Dilip joshi quitting taarak mehta ka ooltah chashmah jethalal reacts

एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में दिलीप जोशी को किसी इंट्रोडक्शन की जरूरत नहीं है. कई ए-लिस्टर्स कलाकारों के साथ काम करने से लेकर टेलीविजन की दुनिया में एक सफल करियर तक, दिलीप अपने फैंस के बीच बेहद पॉपुलर हैं. टीवी शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में अपने किरदार जेठालाल चंपकलाल गड़ा की वजह हर घर में लोग उन्हें जानते हैं. ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’   (Taarak Mehta Ka Ooltah Chashmah) दिलीप के लिए दूसरा जन्म था क्योंकि उन्होंने अपने एक्टिंग करियर में सारी उम्मीद खो दी थी. वह आज हर किसी के पसंदीदा हैं.

‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ की अब भी इतनी पॉपुलैरिटी जितनी दिशा वकानी (Disha Vakani) यानी दयाबेन के होने पर होती थी. वह शो को छोड़ कर जा चुकी हैं. अब दिलीप जोशी के शो छोड़ने की काफी खबरें आ रही हैं. पिछले कई दिनों से खबरें आर रही हैं कि जेठालाल शो को छोड़ना चाहते हैं. इस पर दिलीप जोशी ने रिएक्शन दिया है. दिलीप ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में कहा, “मुझे लगता है कि जब यह शो अच्छा चल रहा है, तो बेवजह इसे किसी और चीज के लिए क्यों छोड़ दिया जाए”.

दिलीप जोशी  (Dilip Joshi Quitting TMKOC) ने यह भी कहा कि इस शो के कारण उन्हें बहुत प्यार मिला है और इसे बर्बाद नहीं कर सकते. उन्होंने कहा, “लोग हमें इतना प्यार करते हैं और मैं इसे बिना किसी कारण के बर्बाद क्यों करना चाहूंगा.” दिलीप इस शो से पहले बेरोजगार थे, उसी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के लिए साइन करने से पहले, एक साल से ज्यादा वक्त तक, मेरे पास कोई नौकरी नहीं थी, जिस सीरियल पर मैं काम कर रहा था वह ऑफ-एयर हो गया था.”

शो से पहले बेरोजगार थे दिलीप जोशी

दिलीप ने आगे कहा,”जिस नाटक का मैं हिस्सा था, इसका रनटाइम खत्म हो गया था. इसलिए, मेरे पास कोई काम नहीं था. यह एक कठिन समय था और मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मुझे क्या करना चाहिए या क्या मुझे अपना फील्ड बदलना चाहिए. लेकिन भगवान की कृपा से ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ का ऑफर मिल गया और यह इतना हिट हो गया कि पीछे मुड़कर नहीं देखा.”

दिलीप जोश करते थे बैकस्टेज काम

दिलीप जोशी (Dilip Joshi Career) ने कहा कि उन्होंने बैकस्टेज कलाकार के रूप में अपना करियर शुरू किया था. उन्होंने कहा, “मैंने व्यावसायिक मंच पर एक बैकस्टेज कलाकार के रूप में शुरुआत की थी. कोई भी मुझे रोल नहीं देता था. मुझे प्रति किरदार 50 रुपये मिलते थे. लेकिन थिएटर करने का जुनून था. ‘कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह एक बैकस्टेज भूमिका थी. भविष्य में बड़ी भूमिका आएगी लेकिन मैं सिर्फ थिएटर से चिपके रहना चाहता था.”

Tags: Dilip Joshi, Taarak Mehta Ka Ooltah Chashmah

Leave a Comment